Jag Ki Koi Reet Na Jani

Jag Ki Koi Reet Na Jani a Hindi Mp3 Song ringtone.Jag Ki Koi Reet Na Jani Song is sung by Yasser Desai, Asees Kaur. Jag Ki Koi Reet Na Jani Song’s music is given by Tanishk Bagchi while Lyrics are penned by Ozil Dalal, Tanishk Bagchi. This song’s Tittle or Original Name is Makhna Makhna.

Download File

Jag ki koi reet na jane song download mr jatt, jag ki koi reet na jane audio song download bestwap, jag ki koi reet na jane song mp3 djpunjab, jag ki koi reet na jane lyrics in hindi, jag ki koi reet na jane song movie name.

Jag Ki Koi Reet Na Jani Song Lyrics In English

Yeh bhi na jaane
Woh bhi na jaane
Naino ke rang naina jaane
Mila jo sang tera
Uda patang mera
Hawa mein hoke malang

Jag ki koi reet na jaane
Main toh bas teri hui deewani
Mila jo sang tera
Uda patang mera
Hawa mein hoke malang

Main chhod aayi ghar baar mera
O Makhna ve makhna
Ab tu hi hai sansaar mera
O Makhna ve makhna
Yeh paagal sa hai pyaar mera
O Makhna ve makhna
Main chhod aayi ghar baar mera
O Makhna…

Chhod aayi ghar baar mera
O Makhna ve makhna
Ab tu hi hai sansaar mera
O Makhna ve makhna
Yeh paagal sa hai pyaar mera
O Makhna ve makhna
Main chhod aayi ghar baar mera
O Makhna…

Teri hi baatein ho
Subah si raatein ho
Jab se mila hai tu
Dil ko mila sukoon
Tu hi raah meri, tu hi safar hai
Teri baahon mein, ab mera ghar hai

Chain na jaane dard na jaane
Dil toh bas dil ko pehchaane
Mila jo sang tera
Uda patang mera
Hawa mein hoke malang

Main chhod aayi ghar baar mera
O Makhna ve makhna
Ab tu hi hai sansaar mera
O Makhna ve makhna
Yeh paagal sa hai pyaar mera
O Makhna ve makhna
Main chhod aayi ghar baar mera
O Makhna…

Chhod aayi ghar baar mera
Ab tu hi hai sansaar mera
Yeh paagal sa hai pyaar mera
Main chhod aayi ghar baar mera
O Makhna…

mmm….

Main chhod aayi ghar baar mera
Tu hi hai sansaar mera
Yeh paagal sa hai pyaar mera
Main chhod aayi ghar baar mera
O Makhna…

Jag Ki Koi Reet Na Jani Song Lyrics In Hindi

ये भी ना जाने
वो भी ना जाने
नैनो के रंग नैना जाने
मिला जो संग तेरा
उड़ा पतंग मेरा
हवा में होके मलंग
जग की कोई रीत ना जाने
मैं तो बस तेरी हुई दीवानी
मिला जो संग तेरा
उड़ा पतंग मेरा
हवा में होके मलंग

मैं छोड़ आई घर-बार मेरा
ओ मखणा वे मखणा
अब तू ही है संसार मेरा
ओ मखणा वे मखणा
यह पागल सा है प्यार मेरा
ओ मखणा वे मखणा
मैं छोड़ आई घर-बार मेरा
ओ मखणा…

छोड़ आई घर-बार मेरा
ओ मखणा वे मखणा
अब तू ही है संसार मेरा
ओ मखणा वे मखणा
यह पागल सा है प्यार मेरा
ओ मखणा वे मखणा
मैं छोड़ आई घर-बार मेरा
ओ मखणा…

तेरी ही बातें हों
सुबह सी रातें हों
जब से मिला है तू
दिल को मिला सुकून
तू ही राह मेरी तू ही सफ़र है
तेरी बाहों में अब मेरा घर है

चैन ना जाने दर्द ना जाने
दिल तो बस दिल को पहचाने
मिला जो संग तेरा
उड़ा पतंग मेरा
हवा में होके मलंग

मैं छोड़ आई घर-बार मेरा
ओ मखणा वे मखणा
अब तू ही है संसार मेरा
ओ मखणा वे मखणा
यह पागल सा है प्यार मेरा
ओ मखणा वे मखणा
मैं छोड़ आई घर-बार मेरा
ओ मखणा..

छोड़ आई घर-बार मेरा
अब तू ही है संसार मेरा
यह पागल सा है प्यार मेरा
मैं छोड़ आई घर बार मेरा
ओ मखणा..

मैं छोड़ आई घर-बार मेरा
तू ही है संसार मेरा
यह पागल सा है प्यार मेरा
मैं छोड़ आई घर-बार मेरा
ओ मखणा..